विशेष कार्यक्रम

विशेष कार्यक्रम

रानी दुर्गावती के बलिदान स्थल नर्रई नाला, जबलपुर से लेकर उनके जन्म स्थान कालिंजर उत्तर प्रदेश तक यह शोध संस्थान रानी दुर्गावती पर शोध कार्य कर रहा है और रानी दुर्गावती के शौर्य का संदेश जन-जन तक पहुंचा रहा है। इसी उद्देश्य को लेकर रानी दुर्गावती के जन्म दिवस 5 अक्टूबर को एक विशाल ‘‘दुर्गावती शौर्य संदेश यात्रा’’ उनके बलिदान स्थल नर्रई नाला, जबलपुर से निकाली गई है जो जबलपुर से चलकर दमोह, हटा आदि स्थानों से होते हुए दुर्गावती के जन्म स्थान कालिंजर तक जायेगी।

‘‘दुर्गावती शौर्य सन्देश यात्रा’’ प्रातः 7 बजे जबलपुर से प्रारंभ होकर 11 बजे दमोह पहुंची इस बीच शौर्य संदेश यात्रा का सिग्रामपुर, जबेरा, अभाना आदि स्थानों पर पुष्पवर्षा के साथ जोरदार स्वागत हुआ। संदेश यात्रा दूसरे शब्दों में कहें तो शोध या अध्ययन यात्रा में हिमाचल एवं रीवा विश्व विद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ ए डी एन बाजपेयी, दुर्गावती शोध संस्थान के निदेशक डाॅ. ए. बी. श्रीवास्तव, महाकोशल प्रांत के संगठन मंत्री डाॅ. पवन तिवारी, वनांचल शिक्षा सेवा न्यास के डाॅ. विजय आनंद मरावी, सह-सचिव नरेन्द्र कोष्ठी, वनां. शि. से. न्यास के उपाध्यक्ष- अरूण पटेवार, बहादुर सिंह, डाॅ. आशुतोष राय, पी. एस. साब, वनांचल सेवा न्यास के प्रांत प्रमुख विजय कुमार जैन सहित शोध संस्थान, वनांचल शिक्षा सेवा न्यास, एवं योजना से जुड़े अनेक पदाधिकारीगण दुर्गावती शौर्य संदेश यात्रा में शामिल हुए |

If you Have Any Questions Call Us On 0761 – 2423713